Manusmriti Gita Press Gorakhpur

Product Summary

मनुस्मृति गीता प्रेस गोरखपुर PDF Manusmriti Gita Press PDF In Hindi गीता प्रेस पुस्तक पीडीएफ डाउनलोड
मनुस्मृति PDF मनुस्मृति अध्याय 1 PDF Download

₹499.00 ₹122.00

Get 4% Cashback

Compare Prices at other stores

Store Price Cashback Buy
Amazon ₹122.00 Get 4% Cashback
Flipkart ₹280.00 Get 4% Cashback

Product Description

मनुस्मृति गीता प्रेस गोरखपुर PDF Manusmriti Gita Press PDF In Hindi: हिन्दू धर्मग्रन्थ एंव धार्मिक किताब पढ़ने के इच्छुक लोगो के लिए मनुस्मृति गीता प्रेस गोरखपुर की PDF प्रारूप पढ़ने के लिए लिंक शेयर किया जा रहा है साथ ही अगर मनुस्मृति गीता प्रेस ऑनलाइन BUY करना चाहे तो कर सकते है

मनुस्मृति गीता प्रेस गोरखपुर पीडीएफ

पीडीएफ नाममनुस्मृति गीता प्रेस
स्थानगोरखपुर
साइज़18MB
पेज स.649
केटेगरीहिन्दू धर्म
एमपी3, MP3NOT Available ✔
विडिओNOT Available ✔
पीडीएफAvailable ✔
क्रेडिटGORAKHPURHINDI.COM
मनुस्मृति गीता प्रेस गोरखपुर PDF | Manusmriti Gita Press PDF

मनुस्मृति क्या है इन हिंदी

हिन्दू धर्म की पुस्तक मनुस्मृति, सनातन धर्म या हिन्दू धर्म की एक धर्मशास्त्र है इसकी रचनाए संस्कृत में है लेकिन सन 1776 में इसकी पहली कॉपी अंग्रेजी में आया था इस तरह से मनुस्मृति अंग्रेजी में अनुवाद होने वाले संस्कृत ग्रन्थ में पहला ग्रन्थ है मनुस्मृति में कुल 12 अध्याय हैं साथ ही 2684 श्लोक हैं। कुछ संस्करणों में श्लोकों की संख्या 2964 भी है

मनुस्मृति का परिचय

इस पुस्तक यानी मनुस्मृति में किस अद्याय या श्लोक में क्या लिखा है यानी मनुस्मृति का जीवन परिचय जो इन्टरनेट के माद्यम से जानकारी हासिल की गई है उसे बताने का प्रयास किया जा रहा

  • नारी तो एक पात्र के समान है। मनुस्मृति (1/10/11
  • बौद्ध भिक्षु व मुंडे हुए सिर वालों को नहीं देखना चाहिए
  • यदि कोई ब्राह्मण पर आक्षेप करे तो उसकी जीभ काट देना चाहिए साथ ही दंड देना चाहिए मनुस्मृति (8/270)
  • दहेज़ लेना एंव देना मनुस्मृति के अनुसार गलत नहीं है
  • जो स्त्री पुत्र जन्म नहीं दे सकती उसे त्याग देना बेहतर है 1/10/51/52), बोधयान धर्मसूत्र 2/4/6
  • धरती या पृथ्वी पर जो भी नजर आ रहा है या मौजूद है वह सब ब्राह्मण का है मनुस्मृति 101
  • जान-बूझकर क्रोध से जो ब्राह्मण को तिनके से भी मारता है, वह 21 जन्मों तक बिल्ली की योनी में पैदा होता है। मनुस्मृति (4/165-4/166)

अध्याय: मनुस्मृति के अध्याय के नाम

मनुस्मृति 12 अध्याय में विभाजित है जिसमे 2694 श्लोकों का समावेश है आइये जाने मनुस्मृति के 12 अध्याय के नाम जो निम्नलिखित है

  1. वर्णाश्रम धर्म की शिक्षा
  2. धर्म की परिभाषा
  3. ब्रह्मचर्य विवाह के प्रकार आदि
  4. गृहस्थ जीवन
  5. खाद्य-अखाद्य विचार तथा जन्म-मरण अशौच और शुद्धि
  6. वानप्रस्थ जीवन
  7. राजधर्म और दंड
  8. न्याय शासन
  9. पति-पत्नी के कर्त्तव्य
  10. चारों वर्णों के अधिकार और कर्त्तव्य
  11. दान-स्तुति,प्रायश्चित्त आदि तथा
  12. कर्म पर विवेचन और ब्रह्म की प्राप्ति।

मनुस्मृति गीता प्रेस गोरखपुर PDF

  • गीता प्रेस धार्मिक किताब के लिए जाना जाता है
  • कई भाषाओ में गीता प्रेस गोरखपुर में पुस्तक की छपाई का काम होता है
  • गीता प्रेस गोरखपुर की पुस्तक मनुस्मृति पीडीऍफ़ PDF डाउनलोड किया जा सकता है
  • अगर Manusmriti Gita Press PDF खरीदना चाहते है
  • ऐसे में ऑनलाइन मनुस्मृति पुस्तक खरीद भी सकते है

Similar Products

Leave a Review

Your email address will not be published.